Friday, September 5, 2008

स्काइपी का इस्तेमाल कैसे करें?

फ्री में PC-to-PC बात करें

स्काइपी (Skype) एक ऐसा साफ्टवेयर है जो पीसी (PC) से पीसी (PC) मुफ़्त कॉल करने की सुविधा देता है। ऐसा नहीं है कि पीसी से पीसी से कॉल करने की एकमात्र यही सर्विस है, इस तरह के कई सुविधाएँ इंटरनेट पर उपलब्ध हैं। बहुतों ने याहू मैसेंजर, जीटॉल्क, एमएसएन मैसेंज़र आदि इस्तेमाल भी किया होगा। लेकिन ध्वनि की जो स्पष्टता स्काइपी से मिलती है, वो किसी से नहीं। यह केवल मेरा अनुभव नहीं है बल्कि १२० मिलियन से भी अधिक स्काइपी प्रयोक्ताओं का अनुभव है।

स्काइपी को हम बहुत आसानी से अपने सिस्टम में संस्थापित भी कर सकते हैं। और कुछ ही मिनटों में दुनिया में किसी भी दूसरे सिस्टम पर बैठे अपने परिचच से बात कर सकते हैं। अधिकतम २५ लोगों के साथ मुफ्त क्रांफ्रेंस भी कर सकते हैं। स्काइपी के इस्तेमाल से आप किसी मोबाइल या लैंडलाइन नं॰ को भी कॉल कर सकते हैं, मगर यह सुविधा मुफ़्त नहीं है। मैं केवल मुफ़्त सुविधा की बात करूँगा।


उपयोग-विधि


1. स्काइपी के अधिकारिक वेबसाइट से इसे डाउनलोड कर लें और अपने सिस्टम में उतार लें (इंस्टॉल कर लें)।

2. संस्थापन (इंस्टॉलेशन) के बाद इस तरह की विंडो खुलेगी। आप 'Don't have a Skype Name?' पर क्लिक करें।



3. अब एक आवेदन-प्रपत्र खुल जायेगा। आप अपना नाम, वांछित यूजरनेम (प्रयोक्ता नाम) और पासवर्ड (कूटशब्द) भरें। जैसे मैंने नाम वाले फील्ड में Hind Yugm और यूज़रनेम में hindyugm भरा है (पासवर्ड तो बताया नहीं जाता :) ) । इसके बाद 'Next' पर क्लिक कर दें।



4. अब स्काइपी आपसे आपका वैध्य ईमेल पता माँगेगा (इसे अवश्य भरें ताकि भविष्य में पासवर्ड या प्रयोक्ता नाम भूल जाने की दशा में दुबारा प्राप्त किया जा सके)। देश और शहर को भरें और 'Sign In' कर जायें।



5. अब आपके सामने इस तरह की खिड़की खुल जायेगी। अभी आपके कॉन्टैक्ट में कोई नहीं है।



6. अब आप दो तरह से लोगों को अपने स्काइपी कॉन्टैक्ट में जोड़ सकते हैं। 'Add Contact' पर क्लिक करके तथा 'Search for Skype Users' के द्वारा। पहले 'Add Contact' पर क्लिक करें।



7. यदि आपके मित्र ने आपको स्काइपी नेम बता रखा हो तो उसे लिखें, जैसे hindyugm या ईमेल पता या उसका पूरा नाम लिखकर 'Find' पर क्लिक करें



8. इस तरह का परिणाम आयेगा, आपको यदि वांछित परिणाम मिल जाये तो उसे सेलेक्ट कर लें। जैसे मुझे hindyugm मिल गया, और मैंने Add Skype Contact पर क्लिक कर दिया।



9. यदि आप 'Search for Skype Users' पर जाना चाहें तो यहाँ क्लिक करें।



10. फिर से एक नया विंडो खुलेगी, जिसमें आप शहर के नाम से, प्रयोक्ता के नाम से, लिंग, देश, भाषा, उम्र इत्यादि फिल्टरों से छाँटकर स्काइपी प्रयोक्ताओं अपनी मित्रता सूची में जोड़ सकते हैं। जैसे मैंने मात्र 'Delhi' फिल्टर के माध्यम से प्रोक्ताओं को खोजा और मुझे ढेरों परिणाम मिले। मैंने वांछित प्रयोक्ता को चुनकर 'Add Skype Contact' पर क्लिक करके जोड़ लिया।



11. अब अपने कॉन्टैक्ट लिस्ट में से जिसे कॉल करना हो, उसे सेलेक्ट करें (यदि वो ऑनलॉइन हो) और हरे रंग का बटन दबायें। इसी तरह से जब आपको कोई कॉल करे तो हरे रंग के बटन से कॉल कनैक्ट करें। बहुत आसान है, उसी तरह का कन्वेंशन है जिस तरह का मोबाइल फोन में होता है।




मैंने यहाँ पर इसके साधारण इस्तेमाल की बात की है। ज्यादा जानना चाहें तो इस्तेमाल करके खुद आर-एन-डी करें। स्काइपी कैसे इस्तेमाल करें?- पर ट्यूटोरिल स्काइपी की वेबसाइट पर भी उपलब्ध है। या आप गूगल में 'How to use Skype' डालकर सर्च करें आपको ढेरों ट्यूटोरियल मिल जायेंगे।

18 comments:

seema gupta September 5, 2008 at 10:47 AM  

"very informative and useful article about use of skype, found inteersting"

Regards

महामंत्री-तस्लीम September 5, 2008 at 11:17 AM  

स्काइपी के बारे में पढकर अच्छा लगा। अब लगता है, इसे ट्राई करना ही पडेगा। जानकारी के लिए आभार।
-जाकिर अली रजनीश

Ankit September 5, 2008 at 2:09 PM  

Shailesh Bhaiya,
Thanks For this Post. Now People will use Skype for their IM purpose.

Debashish September 5, 2008 at 4:14 PM  

बढ़िया आलेख! सही उच्चारण है "स्काइप"।

Dr. Amar Jyoti September 5, 2008 at 6:48 PM  

मैने प्रयोग किया है। बहुत उपयोगी है।

Udan Tashtari September 5, 2008 at 8:30 PM  

जानकारी के लिए आभार।

हरि September 10, 2008 at 2:35 PM  

मैं भी भइया इसे आजमा कर देखूंगा तब बताउंगा कि मेरी उड़नतश्तरी से कैसी बात हुईं। अगर उस फोटो का राज पता चल गया जिसमें हवा उन्हें उनकी प्रेयसी के नजदीक नहीं आने दे रही तो सबको फुनिया के बताउंगा।

अविनाश वाचस्पति September 11, 2008 at 4:12 PM  

आज मैं भी आवाज के इस जादूगर
को अपने कम्‍प्‍यूटर पर उतारूंगा।

कुन्नू सिंह September 20, 2008 at 3:06 AM  

डाउन्लोड कर रहा हूं।
बहुत अच्छी जानकारी है।

अभी आधा ही पेज खूला है।

पास्वर्ड भी बता देते तो एकाउंट बनाने की जरूरत नही पडती :)

प्रवीण त्रिवेदी...प्राइमरी का मास्टर November 4, 2008 at 5:54 AM  

मदद गार!
शिक्षण!!!!!

ATULGAUR (ASHUTOSH) November 17, 2008 at 7:44 AM  

आज यू ही विचरण करते हुए आपके ब्लॉग पर आ गया जितना पड़ा है उसके लिए आप बधाई की पात्र है आप यस्सस्वी हो टाइम की कमी होने के कारन विस्तार से अपने मनोभाव प्रगत नही कर प् रहा हु
atul2363@yahoo.com

Zakir Ali 'Rajneesh' December 23, 2008 at 11:37 AM  

नमस्‍कार।
आपको जानकर प्रसन्‍नता होगी कि विज्ञान और प्रौद्यौगिकी के प्रचार प्रसार एवं इससे जुडे ब्‍लॉगर्स के अधिकारों के संरक्षण के लिए 'साइंस ब्‍लॉगर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया' का गठन किया गया है।
यह संस्था विज्ञान और प्रौद्योगिकी के प्रचार-प्रसार को बढावा देने वाले लोगों के हितों के संरक्षण का कार्य करेगी। इसके अतिरिक्त विज्ञान संचार के लिए आम जन को प्रेरित करने, इंटरनेट पर हिन्दी ब्लॉग लेखन को बढावा देने, ब्लॉग निर्माण सम्बंधी तकनीकी जानकारियां आम जन तक पहुंचाने, ब्लॉगर्स की तकनीकी / व्यवहारिक समस्याओं को सुलझाने का भी कार्य करेगी।
आपके इस दिशा में किये गये महती कार्यों को दृष्टिगत रखते हुए संस्‍था आपको 'साइंस ब्‍लॉगर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया' की मानद सदस्‍यता प्रदान करती है। इसके अतिरिक्‍त संस्‍था आपको कानूनी सलाहकार के पद पर विभूषित करने की आकांक्षी है। यदि आप इससे जुडने हेतु सहमति प्रदान करें, तो हमें अति प्रसन्‍नता होगी।
आपका प्रोत्‍साहन हमारे विश्‍वास को नया बल प्रदान करेगा।
सादर,
जाकिर अली 'रजनीश'
सचिव
साइंस ब्‍लॉगर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया
http://sciblogindia.blogspot.com/

हिमांशु February 19, 2009 at 6:08 AM  

स्काईपी के उपयोग आदि के सम्बंध में इस उपयोगी जानकारी के लिये आपका धन्यवाद.

नरेश सिह राठौङ May 6, 2009 at 4:57 PM  

जानकारी बहुत अच्छी लगी । हम भी इसे पहले से काम मे ले रहे है । आपने इस पर हिन्दी मे जानकारी देकर हम जैसे लोगो के लिये अब और आसान कर दिया है । आभार आपका ।

Anonymous September 9, 2010 at 5:32 PM  

भाईवर,
काफी उपयोगी जानकारी के लिए धन्यवाद!
...जितेन्द्र‘जौहर’ (शिक्षक/कवि)

जितेन्द्र ‘जौहर’ September 9, 2010 at 5:41 PM  

बहुत सरल भाषा में समझा दिया है आपने!
...जितेन्द्र जौहर

BHANWAR GOGADEV June 2, 2013 at 9:06 PM  

dhanywad jankari dene ke liye

exam March 11, 2015 at 12:38 PM  

Only for hindi lovers
सिर्फ हिन्दीप्रेमियो के लिए http://www.hindipremi.tk

Post a Comment

Back to TOP