Saturday, April 17, 2010

कृतिदेव 010 से यूनिकोड से कृतिदेव 010 परिवर्तक

यूनिकोड में टाइपिंग पद्धति के इतना सरल और प्रचलित होने जाने के बावजूद भी बहुत से ऐसे लोग हैं जो पुराने फॉन्टों में ही हिन्दी टाइपिंग करना पसंद करते हैं। जबकि वे आईएमई जैसे उपकरणों की मदद से बिलकुल उसी तरीके से सीधे यूनिकोड में टाइप कर सकते हैं, जैसे वे अब तक टाइप करते रहे हैं। लेकिन फिर भी प्रिटिंग में अभी भी पुराने फॉन्टों का ही प्रयोग हो रहा है, इसलिए भी हम अभी तक इन फॉन्टों को छोड़ नहीं पाये हैं। चूँकि एडोब पेजमेकर, क्वार्क एक्सप्रेस, कोरेल ड्रॉ, फोटोशॉप इत्यादि डिजाइनिंग और प्रिटिंग के सॉफ्टवेयरों में हिन्दी (यूनिकोड) का सपोर्ट उपलब्ध न होने की वजह से हम उसी पुराने फॉन्टों की शरण में जाते हैं, जिन्हें हम ताम-झाम से भरा तरीका मान सकते हैं। पिछले 2-3 सालों में मंगल के अलावा कई और यूनिकोड के फॉन्टों का चलन शुरू हुआ है (जैसे- अपराजिता, गार्गी इत्यादी), जो मंगल और Arial Unicode MS जैसे फोन्टों से अधिक सुंदर और प्रखर हैं, फिर भी अपने लेखों को सुंदर-सुंदर फॉन्टों में देख चुके लेखकों/प्रकाशकों को ये पर्याप्त नहीं लगते। दूसरी परेशानी यह भी है कि कोरेल ड्रॉ और पेजमेकर इत्यादि सॉफ्टवेयरों के नये संस्करणों में यूनिकोड के सपोर्ट के आ जाने के बावजूद भी इनमें भारतीय भाषाओं के यूनिकोड पाठों के लिए पूर्णतया सपोर्ट नहीं बन पाया है। बाजार के जानकार इसका प्रमुख कारण भारत में गैरलाइसेंसी या पायरेटेड साफ्टवेयरों के उपयोग के चलन को मानते हैं। मैंने कुछ ऐसी वेबसाइटें देखी हैं, जहाँ यूनिकोड करैक्टरों को यूटिलिटी के द्वारा कोरेल ड्रॉ, फोटोशॉफ इत्यादि सॉफ्टवेयरों में किसी भी पुराने फॉन्टों (जैसे कृतिदेव, चाणक्या, शिवा इत्यादि)जैसा दिखाया जा सकता है, लेकिन फिलहाल यह यूटिलिटि रु 5000 से भी ज्यादा की है और इसके पायरेटेड संस्करण का भी चलन शुरू नहीं हो पाया है, इसलिए इस विकल्प के बारे में कम ही प्रयोक्ता विचार कर रहे हैं।

मोटे तौर पर कहा जाये तो ऐसी यूटिलिटियों की ज़रूरत है जो निःशुल्क हमें यूनिकोड पाठ को किसी पुराने फॉन्ट में और उस फॉन्ट के पाठ को यूनिकोड पाठ में बदलने की सुविधा दें। और निस्संदेह यह सुविधा हिन्दी की बहुत सी साइटों पर उपलब्ध है। लेकिन हिन्दी के तकनीकजीवी ब्लॉगरों यथा नारायण प्रसाद, अनुनाद सिंह, रवि रतलामी आदि द्वारा संचालित गूगल समूह Scientific and Technical Hindi (वैज्ञानिक तथा तकनीकी हिन्दी) में जो कंवर्टर (परिवर्तित्र) उपलब्ध हैं, वो 99 प्रतिशत शुद्धता के साथ परिवर्तन करते हैं। मेरा ख्याल है कि मैंने हिन्दी की वेबसाइटों पर उपलब्ध लगभग सभी परिवर्तकों को आजमाया होगा, लेकिन इतनी शुद्धता से परिवर्तन करने वाले टूल मुझे कहीं और नहीं मिले।

मैं पिछले साल से ही इस फिराक में था कि लाभार्थियों को यह टूल उपलब्ध कराऊँ और इसके लिए मैंने इस समूह के सक्रियतम सदस्य अनुनाद सिंह से इस संदर्भ में बातचीत भी की और उन्होंने मुझे इस काम के लिए प्रोत्साहित भी किया, लेकिन मैं अब जाकर यह निश्चय कर पाया कि मैं 1-1 कन्वर्टर के बारे में लिखूँ ताकि अधिक से अधिक लोगों को इसकी जानकारी मिल सके। खैर देर आयद, दुरुस्त आयद!

इसलिए आज मैं हिन्दी के सबसे अधिक लोकप्रिय फॉन्ट कृतिदेव010 से शुरुआत कर रहा हूँ। नीचे दिये गये कंवर्टर से आप कृतिदेव 010, कृतिदेव 0100, कृतिपैड फॉन्ट फेमिली, शिवा नॉर्मल और मीडियम, वाक्‍मैन-चाणक्या फेमिली, आगोलू, आगरा, अकबर, आनंद इत्यादि फॉन्टों के पाठों को यूनिकोड में और यूनिकोड पाठों को ऊपर वर्णित फॉन्टों में बदल सकते हैं। हालाँकि यह परिवर्तक कृतिदेव010 फॉन्ट के लिए ही अनुकूलित (Optimized) हैं।

धीरे-धीरे हम लगभग सभी फॉन्टों के परिवर्तक को आपके लिए लेकर आयेंगे। फिर भी आप किसी विशेष फॉन्ट का परिवर्तक बनाने के लिए निवेदन कर सकते हैं। अपना निवेदन (फॉन्ट के साथ) emadad@hindyugm.com पर भेजें।

नीचे दिये गये परिवर्तक को बनाने का काम नारायण प्रसाद को जाता है।


कृपया ध्यान दें- परिवर्तन से पहले कृतिदेव 010 के पाठ में से सीधे उद्धहरण (यानी '' और "" उद्धहरण चिह्नों ने भीतर बंद पाठ) को स्मार्ट उद्धहरण (यानी ‘ ’ और “” उद्धहरण चिह्नों के भीतर बंद पाठ) में बदलें।

आप MS Word, Wordpad, Notepad, Corel Dra\w, Pagemaker आदि स्रोतों से कृतिदेव010 फॉन्ट में लिखे गये फॉन्ट को कॉपी करें और नीचे दिये गये पहले बाक्स में पेस्ट करें और 'यूनिकोड में बदले' का बदन दबायें। नीचे के दूसरे बॉक्स में आपको अगले ही पल यूनिकोड में बदल चुका पाठ नज़र आयेगा।

यदि आप यूनिकोड पाठ को कृतिदेव010 में बदलना चाहते हैं तो कहीं और टंकित यूनिकोड फॉन्ट को नीचे दिये गये दूसरे फॉन्ट में पेस्ट करें या वहीं यूनिकोड में टाइप करें और उसके बाद 'कृतिदेव010 में बदलें' का बटन दबायें। इसके ऊपर के बॉक्स में आपको कृतिदेव010 में बदल चुका टेक्सट मिलेगा। इस टेक्सट को कॉपी करें और वांछित स्थान पर पेस्ट करके, पहले पूरा टेकस्ट चुनें, उसके बाद कृतिदेव010 फॉन्ट चुन लें।

41 comments:

कुमार राधारमण April 17, 2010 at 6:07 PM  

मेरे हिसाब से,यूनिकोड से क्रुतिदेव में कन्वर्ट करने वाला लिंक काम नहीं कर रहा है। क्रुतिदेव से यूनिकोड में कन्वर्जन अच्छा हुआ। एक कमी यह दिखती है कि वर्ड में किए गए मामूली डिजाइनदार टेक्स्ट फाइल को यह फार्मेट रीड नहीं कर पाता और अक्षर की जगह कुछ और दिखाता है। अब तक मैने जिन कन्वर्टर्स का इस्तेमाल किया है,उनमें सारांश सर्वश्रेष्ठ रहा है।

सुशील कुमार छौक्कर April 17, 2010 at 6:12 PM  

बहुत उपयोगी जानकारी है जी। पर अभी इस्तेमाल नही किया है इस्तेमाल करेगे तो ज्यादा बता पाऐगे।

M VERMA April 17, 2010 at 6:17 PM  

मैने तो बदल कर देख लिया बहुत ही उपयोगी है ये तो

Raviratlami April 17, 2010 at 7:57 PM  

"...मेरा ख्याल है कि मैंने हिन्दी की वेबसाइटों पर उपलब्ध लगभग सभी परिवर्तकों को आजमाया होगा, लेकिन इतनी शुद्धता से परिवर्तन करने वाले टूल मुझे कहीं और नहीं मिले।..."

दो ऐसे परिवर्तक हैं जो शतप्रतिशत - जी हाँ, शत प्रतिशत शुद्धता से परिवर्तन कर सकते हैं -
1 - डांगी सॉफ़्ट का प्रखर फ़ॉन्ट परिवर्तक - इसमें 250 फ़ॉन्टों से यूनिकोड में परिवर्तन की सुविधा है. अलबत्ता उलट की सुविधा नहीं है. (यह मुफ़्त नहीं है)

2 - सिल कन्वर्टर - इसमें सिर्फ चुनिंदा (कृतिदेव व शुषा) हिन्दी फ़ॉन्टों के यूनिकोड व उसके उलट 100 प्रतिशत शुद्धता से परिवर्तन की सुविधा है. इसकी खासियत यह है कि इसके जरिए आप पूरी की पूरी किताब भी एक बार में तेजी से फ़ॉन्ट परिवर्तित कर सकते हैं - साथ ही इसमें फ़ॉर्मेटिंग पूरी बनी रहती है - अंग्रेज़ी व दीगर फ़ॉन्ट भी अपने रूप में बने रहते हैं.

शैलेश भारतवासी April 18, 2010 at 12:08 AM  

@ कुमार राधारमण जी,

मैंने अपने यहाँ चेक किया, यहाँ तो कृतिदेव से यूनिकोड और यूनिकोड से कृतिदेव- दोनों ही कनवर्टर ठीक काम कर रहा है। यहाँ तक कि मैंने 4 अलग-अलग ब्राउजरों में भी चेक कर लिया।

शैलेश भारतवासी April 18, 2010 at 12:14 AM  

@ रवि रतलामी जी,

आपने ज़रूरी बिंदुओं पर ध्यान आकृष्ट कराया है। मुझे यह बात लिखनी चाहिए थी कि मैं मुफ्त में उपलब्ध टूलों की बात कर रहा हूँ।

आपने अन्य जो कंवर्टर सुझाये हैं, उनको सिस्टम पर इंस्टॉल करने के लिए .NET Framework भी संस्थापित रहना चाहिए। परेशानी यह है कि जब मैं किसी टूल के बारे में बताने के लिए विचार करता हूँ तो यह ध्यान में रखकर चलता हूँ कि मैं उनलोगों के लिए ट्यूटोरियल तैयार कर रहा हूँ, जिन्हें किसी तरीके से ईमेल चेक करना ही आता है। उनसे डॉट नेट फ्रेमवर्क को इंस्टॉल करना मुश्किल है।

उदाहरण के लिए- मैंने सिल कन्वर्टर ट्राई नहीं किया था। आपने कहने पर मैंने उसकी वेबसाइट खोली और 4 अलग-अलग तरीके के इंस्टॉलर डाउनलोड कर लिया, फिर में मेरे लैपटॉप में वह .NET Framework संस्थापित नहीं है। (reformatting की वजह से)। इसलिए नारायण प्रसाद जी यह कन्वर्टर बिना किसी तामझाम परिवर्तन कर देता है।

अविनाश वाचस्पति April 18, 2010 at 11:24 AM  

बहुत उपयोगी कार्य। हिन्‍दी इसी के बल पर बढ़ेगी और निखरेगी।

PADMSINGH April 28, 2010 at 2:59 PM  

बहुत बधाई शैलेश जी !
कनवर्टर अच्छा लगा ... लेकिन आफलाइन के लिए कोई विकल्प नहीं मिल रहा है ...

Jagdeep S. Dangi July 18, 2010 at 2:53 AM  

यूनिदेव (मंगल से कृतिदेव फ़ॉन्ट परिवर्तन हेतु उपकरण)

Demo Link:- http://www.4shared.com/file/qs8-bXyl/DangiSoft_UniDev.html

devendra mishra September 17, 2010 at 3:53 PM  

आप की कृपा से सब काम हो रहा है ।

devendra mishra September 17, 2010 at 4:44 PM  

मैं पहिले ई-कलम का उपयोग करता था जिसमें काफी दिक्कत होती थी, आज का दिन मेरे लिये बहुत सारी खुशियां लेकर आया जब मैंने इसका उपयोग किया और वह कारगर हो गया । मेरी खुशी का कोई ठिकाना नहीं रहा क्योंकि मुझे एमएसवर्ड में काम करना आता है । इसके माध्यम से अब मैं हिन्दी भाषा की खूबियों का प्रचार प्रसार कर सकूगा । बहुत-बहुत बधाई ।

भोर October 1, 2010 at 3:04 PM  

बड़ी ही अद्भुत तकनीकी को ईजाद किया है आप सब ने। तह-ए-दिल से शुक्रगुजार हूं, हिन्दयुग्म का। यह सचमुच मेरे लिए किसी वरदान सरीखा है। इससे पहले मैं अपनी सामग्री को मंगल से के-10 में बदलने के लिए ‘बसेरा’ का सहारा लिया करता था। कॉपी तो के-10 में बदल जाती थी, पर ढेर सारे शब्द ईधर-के-उधर हो जाया करते थे, जिसे ठीक करने में तकरीबन उतना ही समय लग जाया करता, जितना कि कॉपी को तैयार करने में और कभी-कभी तो उससे भी अधिक। इसका मतलब ये कतई नहीं कि मैं बसेरा का अहसानमंद नहीं लेकिन मैं बस दोनों की तकनीकियों की तुलनात्मक तस्वीर अपने अनुभव के आधार पर प्रस्तुत कर रहा हूं।
इससे के-10 में बदलने के बाद तो नाम मात्र का अतिरिक्त यत्न करना पड़ता है, जैसे-संख्या, प्रतिशत, विसर्ग के चिह्न, बस ऐसे ही कुछ। पूरी फाइल हू-ब-हू के-10 में बदल जाती है। हार्दिक आभार। अगर इस तरह के कार्य को आगे बढ़ाने में मैं किसी तरह का सहयोग दे पाया तो समझूंगा कि मैं आपके ऋण से कुछ हद तक उऋण हो पाया।

Kishor se miliye October 11, 2010 at 2:13 PM  

Ajkal mere computer par apka font convrtor kam nahi kar raha hai..bahut asuvidha ho gai hai..rah dikhaen....

नरेश सिह राठौड़ October 13, 2010 at 5:06 PM  

मैंने तो आपकी पोस्ट की नक़ल अपने यहाँ कर दी है | http://myshekhawati.blogspot.com/2010/09/blog-post_11.html लेकिन अब ये आजकल काम नहीं कर रहा है स्क्रिप्ट शायद गडबड हो गयी है |

Anonymous October 14, 2010 at 9:50 AM  

Ajkal apka font convrtor kam nahi kar raha hai..bahut asuvidha ho gai hai.

Anonymous October 14, 2010 at 9:53 AM  

Ajkal apka font convrtor kam nahi kar raha hai..bahut asuvidha ho gai hai.

mahesh October 14, 2010 at 9:56 AM  

Ajkal apka font convrtor kam nahi kar raha hai..bahut asuvidha ho gai hai.

Anonymous October 14, 2010 at 10:02 AM  

Ajkal apka font convrtor kam nahi kar raha hai..bahut asuvidha ho gai hai.

Anonymous October 14, 2010 at 4:09 PM  

Best of Luck for maintaining quality service.

नियंत्रक । Admin October 21, 2010 at 11:09 AM  

अब इसे ठीक कर लिया गया है।

kailash October 21, 2010 at 9:06 PM  

प्रिय शैलैश जी,
लिंक ठीक करने हेतु धन्यवाद एंव आभार।
आपने यह सुविधा देकर हमारी रचनाधर्मिता के प्रसार को सरल करके हम पर
उपकार किया है।
हम हिन्दी युग्म के भी आभारी हैं जिसने यूनीकोड में परिवर्तन की सुविधा
उपलब्ध कराई है। हिंदी के बिना हमारी रचनाधर्मिता गॅूगी है, तथा प्रसार
के उचित माध्यमो के बिना लेखनी लंगडी है। हमारी बात यूनीकोड के माघ्यम से
नेट में सुलभ हो पा रही है इसके लिए आप एंव आपकी संस्था का कार्य सराहनीय
है।
हिंदी युग्म के लिए मेरे योग्य सेवा बताएं। मुझे खुशी होगी।
सादर धन्यवाद।
कैलाश चंद्र जोशी
09720007396

पद्म सिंह October 25, 2010 at 4:59 PM  

अभी भी ये कनवर्टर काम नहीं कर रहा है ... क्या करूं ?

शैलेश भारतवासी October 28, 2010 at 11:46 AM  

पद्य जी,

हमारे यहाँ तो यह कंवर्टर काम कर रहा है। एक बार दुबारा खोलकर देखें।

vinnsha November 3, 2010 at 10:58 PM  

श्रीमान् कृतिदेव क्या है और यूनिकोड क्या है कृपया सविस्तार समझाने का कष्ट करें. मैं आपके उक्त लेख से लाभ उठाने का इच्छुक हूँ मगर मेरे को इसके बारे में कोई भी ज्ञान नहीं है.
धन्यवाद.

डॉ. नूतन - नीति November 17, 2010 at 12:23 PM  

मुझे लग रहा है ..कल इसे इस्तेमाल कर देखा था ... किन्तु तब से सारे हिंदी के ब्लॉग में लिखे फोंट गडबड दिख रहे है.. मतराएँ गलत जगह पर अंकित दिख रही है... कृपया मदद करें ..अभी भी मैं अंदाज से लिख रही हूँ...

अविनाश वाचस्पति November 21, 2010 at 7:33 PM  

नूतन जी आपकी तो ई मेल भी नहीं दिख रही है, चाहूं तो भी मदद कैसे करूं। 9420920422 गोवा में हूं आजकल। वैसे एम एस वर्ड 2003 इस्‍तेमाल करके देखिए। शायद समस्‍या दूर हो जाए।

મલખાન સિંહ December 27, 2010 at 11:04 AM  

http://technical-hindi.googlegroups.com/web/Krutidev010-to--Unicode-and-Chanakya-Converter02.html?gda=v77hhWcAAABK7OLuOm601guSX11NJCePztWw4K-ux_ZUN3zJo2CzAu2yIt8yBlRCHIlsAvScfLtOVBMMkVVG1ur3K7X8iHZ_UMoOZtpC9PP0KFMxXy8LiUPYywu3QVBerpSfC-s2zB55Xh26_qkMwaGGFl2NCU0D


आप इस लिंक का इस्तेमाल कर सकते हैं. शानदार है

Rakesh Kumar Chadar January 26, 2011 at 5:51 PM  

sir, i installed unicode in my system but i cant see the mangal font in my system. please help me, in which font i type in my ms word .doc, by which i directly paste in my compose mail or blog.

ashok kumar srivastava February 2, 2011 at 9:36 PM  

shaileshji'

kripakr mujhey koee aisa software btaayen jiski madd se main english type krte hue bhee main nindi script men use badal skoon aur agr eemail bhI bhej skoon to aur achha. Dhannuavad.

ASHOK SRIVASTAVA, Sri Aurobindo Ashram, N.Delhi

dschauhan February 8, 2011 at 12:42 PM  

मेरे लिए तो यह सुविधा बहुत ही लाभकारी रही। पहले मुझे लगता था कि यह बहुत की टिपीकल प्रोसीजर होगा और हो सकता है बहुत महंगा भी हो। परन्तु इस जानकारी के लिए आपको साधुवाद।

Pryag Anveshan March 30, 2011 at 8:20 AM  

अरे वाह यह तो बहुत ही बढ़िया प्रयास है और इसमें कोई अशुद्धता भी नहीं है। आपको बहुत-बहुत धन्यवाद ! अगर आपको कभी जरुरत पड़े तो मैं और मेरा ग्रुप आपकी सहायता करने में पीछे नहीं हटेगा मेरा ई-मेल पता है - mishra.aniruddha@gmail.com

parul May 15, 2011 at 12:47 AM  

It's awesome!!!!!!!!!!!!!!

श्रवण कुमार द्विवेदी September 2, 2011 at 10:44 PM  

बहुत बढिय इससे मुझे बहुत मदद मिली

DHEERAJ September 21, 2011 at 10:57 PM  

यूनिकोड से कृतिदेव काम नहीं कर रहा है

yamraj January 9, 2012 at 8:53 PM  

श्रीमानृ जी क्या यह प्रोग्राम ऑफलाईन उपलब्द्वहो सकता है यदि हॉं तो कृपया उसका लिंक प्रदान करने की कृपा करें
आपको बहुत बहुत घन्यवाद

Nadir Jamala February 18, 2013 at 9:00 PM  

श्रीमान् जी,
उपरोक्‍त जानकारी लिए आपका हार्दिक धन्‍यवाद
अगर इसी तरह '' चाणक्‍य '' फोन्‍ट को क्रुतिदेव 010 में बदलने का लिंक मालूम हो तो अवश्‍य मार्गदर्शन करें।
धन्‍यवाद

Anonymous June 13, 2014 at 1:02 PM  

Thank You so much...

Akash Singh October 22, 2015 at 2:40 PM  

plz provide offline converter software by which we convert it without internet. if availabe then please send link on akash74153@gmail.com

रौशन जसवाल विक्षिप्‍त September 20, 2016 at 7:56 PM  

कई बार श काेे ष में बदलता है ऐसा क्‍यों

dr dm Mishra October 7, 2016 at 9:13 AM  

मेरा एकाउन्‍ट सस्‍पेंड क्‍यों कि‍या गया है । प्‍लीज चालू करें

Anchek July 26, 2017 at 10:16 AM  

Aap play store se kruti dev to Unicode download kare for android
Ye app offline hai

Post a Comment

Back to TOP